भोपाल स्मार्ट सिटी सभी चर्चाएँ के तहत

वापस

हेरिटेज बिल्डिंग्स का अनुकूली पुनः उपयोग

अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के लिए भोपाल प्रसिद्ध रहा है | भोपाल की  बेहतर शहरी जीवन शैली, बेहतर पर्यावरण, भौतिक, सामाजिक और आर्थिक स्तिथि के साथ भोपाल सेहर को मध्य प्रदेश की राजधानी बनाया गया है और अब भोपाल आधुनिक राजधानी में बदलने की प्रक्रिया में है।

 

खूबसूरती और पर्यावरण की दृष्टि से भोपाल शहर  को सबसे अधिक रहने योग्य माना गया है| भोपाल को खुशनुमा शहर का दर्जा दिया गया है इस लिहाज़ से भोपाल में पर्यटन की अपार संभावनाएं है. पर्यटन को भढावा देकर शहर को आर्थिक रूप से भी समृद्ध किया जा सकता है इसी कड़ी में भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कारपोरेशन द्वारा शहर की भिभिन्न ऐतिहासिक इमारतों को सबरा एवं संरक्षित किया जा रहा है|

 

वर्तमान में भोपाल स्मार्ट सिटी तीन धरोहर संरक्षण परियोजना, मोती मेहल, सदर मंजिल, टीन मॉहोर गेट पर काम कर रहा है, जिसमें हेरिटेज बिल्डिंग्स के उद्देश्यों के निम्नलिखित अनुकूली उपयोग हैं: -

 

  • भोपाल के ऐतिहासिक स्थलों का संरक्षण।
  • पर्यावरण के अनुकूल imarton ka jirondhar
  • लागत बचत के परिणामस्वरूप मूल सामग्रियों का उपयोग।
  • धरोहर संरक्षण भवनों के अनुकूल उपयोग से न केवल इमारत को जीर्णोंद्धार   करने में मदद मिलती है, बल्कि यह सामाजिक और आर्थिक रूप से आसपास के क्षेत्र में सुधार करने में भी मदद करता है।
  • मजदूरों, गेट कीपर्स, गाइड्स, टैक्सी ड्राइवरों, प्रदर्शन करने वाले कलाकारों, आदि के रूप में स्थानीय लोगों के बड़े पैमाने पर रोजगार पैदा करना।
  • क्षेत्र की पर्यटन क्षमता में सुधार।
  • दुकानों आदि के रूप में इन क्षेत्रों के आसपास राजस्व सृजन पहलुओं में वृद्धि।
  • परियोजना को संचालन और रखरखाव के लिए पीपीपी मोड में अपनाया जा सकता है।

 

हम आपसे अनुरोध करते हैं कि आप हमें निम्नलिखित विरासत स्थलों के अनुकूली उपयोग पर अपने सुझाव और प्रतिक्रिया प्रदान करें: मोती मेहल, सदर मंजिल, गौहर मेहल और टीन मौह्रे गेट। हम इस संबंध में आपके विचारों और सुझावों का इंतजार कर रहे हैं।

टिप्पणियाँ
टिप्पणी पोस्ट करने के लिए पहले लॉगिन करें
साइन इन
dheer singh
Score: 0
Good Initiative for preserve our heritage
0 (0 वोट्स)
Shadab Khan
Score: 0
all efforts are fantastic
0 (0 वोट्स)
Nisha Khapre
Score: 0
Wao so nice
0 (0 वोट्स)
Rameez khan
Score: 0
Impressive smartcity
0 (0 वोट्स)
Jeetu Pawar
Score: 0
Good work
0 (0 वोट्स)
suraj magre
Score: 0
Appreciative movement
0 (0 वोट्स)
lucky Bagde
Score: 0
Good to see these steps in bhopal
0 (0 वोट्स)
M F Ansari
Score: 0
This place should be conerted in a museum and heritage complex with shifting Iqbal Library into it and more such public libraries like SV Library.
Also there should be indoor games clubs for Chess , TT, Board games, Carrom .
There can be gift shops with handicraft and fine dining.
0 (0 वोट्स)
Akhil Pathak
Score: 0
I have an idea regarding it. just giving some brief - like for sadar manzil we can recapture those days, when royal family lives there and picturize some interesting stories of those days through story play, story tellings or by laser light show, these event will give the idea of local culture, ethnicity, history, haritage, food of Bhopal. Actually People of Bhopal doesn't know much about their own city and as per now Bhopalis have nothing to unite of and nothing to proud of because nobody know and familiar about there own local culture and heritage. Sunday can be the perfect day and Iqbal maidan can be the sitting area for audiance + food stalls with local cousins.

I am open for discussion on it. I am at Bnest only. I have very good and one of a kind picturization for it.
0 (0 वोट्स)